सह-पाठयक्रम गतिविधियां -


निश्चत रूप से कहा जाता है कि विद्यालय ही वह केन्द्र् है जहाँ छात्रो को उर्जावान जीवन और विभिन्न प्रकार के क्रियाकलापो को करने का अवसर प्रदान किया जाता है । हमारे विद्यालय मे सालभर विभिन्न पाठयसह्गामी क्रियाकलापो का आयोजन किया जाता रहा है ।


इन प्रतियोगिताओ मे ड्राइंग एव पेन्टिग, काव्य - पाठ, कविता - लेखन, राखी बनाना, रंगोली, वाद - विवाद, दिया सज्जा, निबन्ध लेखन, एकल गायन, समुह गायन, समुह न्रत्य आदी प्रमुख है, जिनमे छात्रो द्वारा बढ - चढकर हिस्सा लिया जाता है । सदन - प्रभारियो के कुशल नेतृत्व मे छात्रो का मौलिक प्रतिभाओ का विकास होता है ।


इन प्रतियोगिताओ मे भाग लेकर छात्रो मे आत्मविश्वास की भावना विकसित होती है, जिससे वे और अधिक प्रतियोगिताओ मे भाग लेने हेतु प्ररित होते है । इन प्रतियोगिताओ मे भाग लेने पर उत्क्र्ष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र - छात्राओ को पुरस्कार भी दिया जाता है ।
निस्संदेह इन प्रतियोगिताओ मे भाग लेकर छात्रो मे सहयोग, समूह मे कार्ये करना, तथा स्वस्थ प्रतिस्पध्रा की भावना का विकास होता है साथ ही धेर्ये, आत्मानुशासन, सहयोग आदी गुण भी छात्रो मे विकसित होते है ।